Home प्रदेश (राज्य) कोरोना पॉजिटिव हैं पत्नी, बेटी की देखभाल के लिए नहीं मिली छुट्टी,...

कोरोना पॉजिटिव हैं पत्नी, बेटी की देखभाल के लिए नहीं मिली छुट्टी, डिप्टी SP ने दिया इस्तीफा

0
7


झांसी: यूपी के झांसी सीओ सदर ने कोरोना महामारी में बेटी और पत्नी का ख्याल रखने के लिए छुट्टी मांगी थी, लेकिन न मिलने पर उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. दरअसल, उनकी पत्नी कोरोना पॉजिटिव हैं और घर पर 4 साल बच्ची की देख-रेख करने वाला कोई नहीं. ऐसे में जब मनीष सोनकर ने एसएसपी से छुट्टी मांगी, तो SSP रोहन पी कानय ने मना कर दिया. ऐसे में बेटी का ख्याल रखने के लिए सीओ सदर ने नौकरी से रिजाइन करना ही सही समझा. वहीं, एसएसपी ने सीओ सदर के इस्तीफे को उच्चाधिकारियों को भेज दिया है. 

एक सीट ऐसी जहां वोटों से नहीं, बल्कि पर्ची निकालकर हुआ प्रत्याशी के भाग्य का फैसला

पत्र में लिखी ये बात
आपको याद हो, रोहन पी कानय देवरिया शेल्टर होम कांड के दौरान सुर्खियों में आए थे. सीओ सदर मनीष सोनकर ने एक पत्र भी जारी किया था जो अब वायरल हो रहा है. इस पत्र में उन्होंने लिखा था कि वह आज तक निष्ठावान होकर अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते आए हैं, क्योंकि उन्हें हमेशा अपने परिवार, खासकर अपनी पत्नी से unconditional support मिलता आया है. लेकिन उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा अब जब पत्नी और बेटी को उनकी जरूरत है (और इस महामारी में किसी और को हमारी मदद के लिए नहीं बुला सकता), तो भी विभाग यह बात नहीं समझ रहा. 

UP पंचायत चुनाव की काउंटिंग में मिली ऐसी खबर कि मण्डप से दौड़ आई दुल्हन, फिर हुआ ये…

आरोप- छुट्टी मांगने पर भी लगा दी गई ड्यूटी
पत्र में मनीष सोनकर ने लिखा है कि वह 1 दिन पहले आए सरकारी फॉलोवर के सहारे बेटी और पत्नी को छोड़ना उचित नहीं समझते. इसलिए उन्होंने एसएसपी से 1 से 6 मई की छुट्टी मांगी थी. लेकिन फिर भी 2 और 3 मई को उनकी ड्यूटी काउंटिंग सेंटर पर लगा दी गई. 2 मई को जब छुट्टी मांगी तो एसएसपी ने फॉलोअर के सहारे पत्नी और 4 साल की बेटी को छोड़कर ड्यूटी पर आने को कहा तो उन्होंने इस्तीफा भेज दिया. 

Baby White Tiger ने मां के साथ किया मजाक, ऐसी चौंक कर उछल पड़ी बाघिन

SSP की तरफ से अलग बयान
इस बारे में जब मीडिया ने SSP रोहन पी कानय से बात की गई तो उन्होंने कुछ और मामला बताया. उनका कहना है कि मनीष सोनकर ऑफिशियल तौर पर अपने घर में एक सरकारी फॉलोवर रख सकते हैं. हालांकि, वह 2 फॉलोवर रख रहे थे और दूसरे का खर्च भी सरकारी खजाने से लेते थे. इसपर रोहन पी कानय ने आपत्ति जताते हुए सरकारी खजाने से भुगतान को रोक दिया था. इसके बाद मनीष ने दूसरा फॉलोवर भेजने की बात कही. 

स्पीड में चलती गाड़ी से यूं निकला टायर, चिंगारियों के साथ लगा इधर-उधर नाचने, आप भी देखें Video

व्हॉट्एप कर दिया रजिग्नेशन लेटर
एक फॉलोवर को उन्होंने चोरी का आरोप लगाकर हटाया और दूसरे को गंदगी फैलाने के आरोप में हटा दिया. 2 मई को जब काउंटिंग के दौरान डीएम और एसएसपी झांसी मौके पर पहुंचे, तो मनीष की ड्यूटी लगी होने के बावजूद वह वहां नहीं थे. उनकी फोर्स भी इधर-उधर थी. ऐसे में उन्हें फोन कर के ड्यूटी पर आने को कहा गया तो मनीष सोनकर ने अपने हाथ से लिखा रेजिग्नेशन लेटर SSP को व्हॉट्सएप कर दिया. जो उन्होंने उच्च अधिकारियों को फॉरवर्ड कर दिया है. इसके अलावा, एसएसपी रोहन पी कानय ने यह भी कहा है कि ऑफिस आने पर मनीष सोनकर की 6 दिन की छुट्टी को भी स्वीकृति दे दी गई है. 

WATCH LIVE TV





Source link

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here